Category Archives: Politics

Reblog- राजनीतिक इश्क़

मैं लाचार सा एक आशिक़ हूँ, हालत मेरी सरकार के भक्तों जैसी है !

अगर याद करूँ वो शुरुआती दिन ,

जैसे किसी चुनावी तैयारी में गुजर रहे थे, रात और दिन |

तब तू रोज मुझसे मिलने आती थी , कसमें वादे रोज़ नए… Read More

Guys Do listen audio version of this poem

 

Shubhankar Thinks

 

Advertisements

व्यंग:- आखिर दोषी कौन है?

आज विजययदशमी के मौके पर ,

एक व्यंग मेरे दिमाग में अनायास चल रहा है!

पुतला शायद रावण का फूंका जायेगा,

मगर मेरे अंतःकरण में एक रावण जल रहा है|

तर्क-कुतर्क व्यापक हुआ है, हठी, मूढ़ी भी बुद्धिजीवी बना है!

आज दशहरा के मौके पर कोई सीता पक्ष तो,

कोई रावण पक्ष की पैरवी में लगा है|

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

आगे पढ़ें…….

 

आप सभी को विजयदशी की हार्दिक शुभकामनायें,

आपको मेरी कविता अच्छी लगी है तो कमेंट करके अपनी प्रतिक्रियाएं अवश्य दें|

Brainwashing : A brain attack

Hello folks,
I hope you all are doing well; Today I am going to share some view on a sensible topic so I hope you will read this article till the end.


So, today’s topic is brainwashing, so firstly let’s know the definition of this word
“pressurize (someone) into adopting radically different beliefs by using systematic and often forcible means.” (source Google)” or

in simple words we can say “Brainwashing is a process which is used to Re-educate someone “

or in other words

In process of brainwashing, A person is convinced by others to adopt the new beliefs and knowledge”.
May be still these explanations are not enough to understand the behavior and effects of brainwash so let’s take an example…….. Read full Post here

Please subscribe my new blog if you are visiting there .

Thanks!